cleanmediatoday@gmail.com

News

Monday, 19 March 2012

पार्टी फैसले का इंतजार करें येदियुरप्पा- नितिन गडकरी

cleanmediatoday.blogspot.com
 
पार्टी फैसले का इंतजार करें येदियुरप्पा- नितिन गडकरी 
क्लीन मीडिया संवाददाता 

मुंबई: 19 मार्च: (सीएमसी)  भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के अध्यक्ष नितिन गडकरी ने सोमवार को कहा कि पार्टी का शीर्ष नेतृत्व पूर्व मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा से बातचीत कर कर्नाटक में नए सिरे से उठे नेतृत्व विवाद को सुलझाने का प्रयास कर रहा है। गडकरी ने भरोसा जताया कि येदियुरप्पा ऐसा कुछ भी नहीं करेंगे, जिससे पार्टी की छवि धूमिल हो। गडकरी ने यहां पत्रकारों से बातचीत में कहा कि लोकायुक्त की सिफारिश पर हमने येदियुरप्पा से इस्तीफा देने को कहा था। हम उनसे बातचीत कर रहे हैं। वह पार्टी के अच्छे कार्यकर्ता हैं।
कर्नाटक में सत्तारूढ़ भाजपा में नेतृत्व को लेकर चल रहे मौजूदा संकट के सूत्रधार येदियुरप्पा ने रविवार को पार्टी नेतृत्व को 48 घंटे का समय दिया था। येदियुरप्पा मुख्यमंत्री के रूप में अपनी वापसी चाहते हैं। इस बारे में गडकरी ने कहा कि येदियुरप्पा ऐसा कुछ भी नहीं करेंगे, जिससे पार्टी की छवि धूमिल हो। उन्हें पार्टी के फैसले का इंतजार करना चाहिए। हम इस बारे में जल्द निर्णय लेने को प्रतिबद्ध हैं। उन्होंने कहा कि हमारी बातचीत चल रही है। भाजपा लोकतांत्रिक पार्टी है। हम  इस पर विचार करेंगे और उपयुक्त समय आने पर निर्णय लेंगे।
कर्नाटक के मुख्यमंत्री डीवी. सदानंद गौड़ा बुधवार को बजट पेश करने वाले हैं, लेकिन येदियुरप्पा के रुख को देखते हुए स्पष्ट है कि वह नहीं चाहते कि गौड़ा बजट पेश करें। रविवार शाम पत्रकारों से येदियुरप्पा ने कहा कि आप 48 घंटे प्रतीक्षा करिए, आपको जानकारी हो जाएगी। अपने आवास पर 50 से अधिक विधायकों के साथ बैठक के बाद येदियुरप्पा ने कहा कि पार्टी के 120 विधायकों में से 70 का समर्थन मेरे पास है। हम एक स्थान पर इकट्ठा हो रहे हैं ताकि पार्टी नेतृत्व को स्थिति को पता चले और नेतृत्व शीघ्र सही निर्णय ले।
येदियुरप्पा पार्टी के 55 विधायकों को दो बसों से बेंगलुरू के बाहर एक स्थान पर ले गए। विधायकों को ले जाते समय उन्होंने कहा कि यहां 55 विधायक हैं। 15 और विधायक कल यहां आ जाएंगे। ज्ञात हो कि कभी येदियुरप्पा की खिलाफत करने वाले ग्रामीण विकास मंत्री जगदीश शेट्टार उनके समर्थन में आ गए हैं। भ्रष्टाचार के आरोपों पर गत वर्ष 31 जुलाई को येदियुरप्पा ने मुख्यमंत्री पद छोड़ दिया। इसके बाद गौड़ा चार अगस्त को मुख्यमंत्री बने।

No comments:

Post a Comment